Heart Touching Shayari with wallpapers

Heart Touching Shayari in Hindi,Heart Touching Shayari with wallpapers, Best Heart Touching Shayari, Latest Heart Touching Shayari 2018, 2 Line Heart Touching Shayari, Looking for Best ,
Best collection of heart touching shayari & quotes in Hindi, Heart Touching Hindi Status Lines, Love Sms Shayari In Hindi,

Heart Touching Shayari with wallpapers

फ़ासले मिटा कर आपस मैं प्यार रखना,.
दोस्ती का ये रिश्ता हमेशा बरकरार रखना,

बिछड़ जाए कभी आपसे हम,
आँखों मैं हमेशा हमारा इंतज़ार रखना…

नज़रें मेरी कहीं तक ना जायें,
बेवफा तेरा इंतेज़ार करते करते,

यह जान यूँ ही निकल ना जाए,

तुम से इश्क़ का इज़हार करते करते…

चाहत पर अब एतबार ना रहा,
खुशी क्या है यह एहसास ना रहा,
देखा है इन आँखो ने टूटे सपनो को,
इसलिए अब किसी का इंतेज़ार ना रहा…

इतनी आसानी से कैसे भुल जाता है कोई,
रह-रह कर क्यों याद आता है कोई,
उमर भर याद करता रहेंगे आपको,
देखते है कब तक हमें भुलाता है कोई..

” वफा के बदले बेवफाई ना दिया करो..

मेरी उमीद ठुकरा कर इन्कार ना किया करो..

तेरी महोब्त में हम सब कुछ खो बैठे..

जान चली जायेगी इम्तिहान ना लिया करो”

होंठो पे दिल के तराने नहीं आते;
साहिल पे समुंदर के फ़साने नहीं आते;
नीन्द में भी खुल उठती हैं पलकें;
आंखों को ख्वाब भी छुपाने नहीं आते!

इश्क़ बुरा है तो उसे होने मत देना;
इशक़ खुदा है तो उसे खोने मत देना;
करते हो अगर किसी से सच्ची मोहब्बत;
तो तुमेह।।”खुदा की कसम!”उसे रोने मत देना!

इश्क़ ने हमें बेनाम कर दिया;
हर ख़ुशी से हमें अंजान कर दिया;
हुंने तो कभी नहीं चाहा की हमें भी मोहब्बत हो;
लेकिन आप की एक नज़र ने हमें नीलाम कर दिया!

जीते थे कभी हम भी शान से;
मेहेक उठी थी फ़िज़ा किसी के नाम से;
गुज़रे हैं हम कुछ ऐसे मक़ाम से;
कय नफ़रत हो गयी है मोहब्बत के नाम से!

Heart Touching sad Shayari with wallpapers

तेरे इंतज़ार का ये आलम है,
तड़प्ता है दिल आखें भी नम है,
तेरी आरज़ू में जी रहे है,
वरना जीने की ख्वाहिश कम है…

\

अब हमसे इंतेज़ार नही होता…
इतना महेंगा तो किसी का प्यार नही होता…
म जिसके लिए हुए रुसवा ज़माने मे…
वो अब बात करने को भी तैयार नही होता…

किसी के दीदार को तरसता है
किसी के इंतेज़ार मे तडपता है
ये दिल भी अजीब चीज़ है
जो होता है खुद का मगर किसी और के लिए धड़कता है .

कौन है यहाँ जो अब मुझपे एतबार करता है
मेरा अक्स मुझे पहचानने से इनकार करता है
खंजर लिए हाथों में खड़ा है दर्द मेरा
वो मेरे क़त्ल के लिए मेरा इंतेज़ार करता है

जो ज़ख्म दे गए हो आप मुझे;
ना जाने क्यों वो ज़ख्म भरता नहीं;
चाहते तो हम भी हैं कि आपसे अब न मिलें;
मगर ये जो दिल है कमबख्त कुछ समझता ही नहीं।

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी;
कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी;
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने;
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी।

तेरे इश्क़ ने दिया सुकून इतना;
कि तेरे बाद कोई अच्छा न लगे;
तुझे करनी है बेवफाई तो इस अदा से कर;
कि तेरे बाद कोई बेवफ़ा न लगे।

उनकी मोहब्बत के अभी निशान बाकी है;
नाम लब पर है और जान बाकी है;
क्या हुआ अगर देख कर मुँह फेर लेते हैं;
तसल्ली है कि शक्ल की पहचान बाकी है।

कभी करीब तो कभी जुदा था तू;
जाने किस-किस से ख़फ़ा है तू;
मुझे तो तुझ पर खुद से ज्यादा यकीन था;
पर ज़माना सच ही कहता था कि बेवफ़ा है तू।

ज़िंदगी से बस यही एक गिला है;
ख़ुशी के बाद न जाने क्यों गम मिला है;
हमने तो की थी वफ़ा उनसे जी भर के;
पर नहीं जानते थे कि वफ़ा के बदले बेवफाई ही सिला है।


You May Also Like

About the Author: Pramod Maurya

Hii I'm Pramod Maurya from fatehpur up..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *